टाटा इंडस्ट्री के अध्यक्ष N. Chandrashekhan ने खरीदा आलीशान आशियाना, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

N Chandrashekhan Flat News

हमारे देश भारत के सबसे बड़े टाटा उधोग के चेयरमैन एन. चन्द्रशेखरन ने माया की नगरी मुंबई में स्वयं का आशियाना खरीदा जिसकी कीमत 98 करोड़ रुपये है।

जी हाँ दोस्तों , मुंबई के दक्षिण साइड में जसलोक अस्पताल के समीप 28 मंजिला इमारत में चन्द्रशेखरन जी ने डुप्लैक्स फ़्लैट को खरीदा है। यह ब्लिडिंग पैडर रोड नामक इलाके में स्थित है जो धनकुबेरों जी के बसेरे के रूप में काफ़ी चर्चित है।

खास बात यह है कि इस नये घर में टाटा समूह के चेयरमैन एन. चन्द्रशेखरन जी किराये पर रहते थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार वे इस घर के किराये के रूप में प्रत्येक महीने 20 लाख रुपये देते थे। चन्द्रशेखरन जी का फ़्लैट इमारत के 11वें और 12वें फ़्लोर में स्थित है। 

N Chandrashekhan
N. Chandrashekhan

6000 वर्ग फ़ुट में फ़ैला कार्पेट एरिया

दोस्तों, जानकारी के लिए बता दें कि इन्होंने जो आशियाना खरीदा है वह बेहद शानदार और आकर्षक है। यह किसी फाइव स्टार होटल से कम नहीं है, यहां तक कि हम यह भी कह सकते हैं कि फाइव स्टार होटल भी इस आशियाने के सामने शून्य है।

बात करें इनके आशियाने की तो फ्लैट के कार्पेट एरिया से लेकर सभी कमरे बेहद ही आकर्षक है। फ़्लैट का कुल कार्पेट एरिया लगभग 6000 वर्ग फ़ुट में फ़ैला हुआ है।

आपको बता दें कि टाटा इंडस्ट्री की कमान एन. चन्द्रशेखरन जी ने वर्ष 2017 में अपने हाथों में ली। तभी से वे इस घर में ही रहते आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार इस घर की डील मई यानि इसी महीने में ही हुई है।

जिस जानकारी का आप लंबे समय इंतजार कर रहे हैं उसके बारे में बात करें तो बता दें कि चन्द्रशेखरन जी ने इस फ़्लैट को खरीदने के लिये लगभग 1.60 लाख रूपये प्रति वर्ग फ़ुट के दर से खरीदी है। जी हां दोस्तों यार एक चौका देने वाली बात है लेकिन इसमें सच्चाई है।

चन्द्रशेखरन जी ने जिस इमारत में फ़्लैट खरीदा है वो इमारत वर्ष 2008 में बन के तैयार हुई थी।

रियल एस्टेट मार्केट में हाई वैल्यू ट्रांजैक्शन

सुत्रों के अनुसार इस डुप्लैक्स ब्लीडिंग को जीवेश डेवलपर्स द्वारा डिजाइन किया गया था जिसका सारा कार्यभार समीर भोजवानी नामक बिल्डर के पास रहता है।

जब उन्हें टाटा ग्रुप ने अगले 5 वर्ष के लिये चेयरमैन की नियुक्ति कर दी इसके बाद उन्होनें यह फ़्लैट खरीदा। मुंबई जैसे महानगर के रियल स्टेट मार्केट में इस तरह के हाई वैल्यू वाले ट्रांजेक्शन काफ़ी कम ही होते दिखते है।

देखा जाये तो अब तक सिर्फ़ 13 ही ऐसे मामले हैं जो हाई प्रोफ़ाइल वैल्यू वाले ट्रांजेक्शन की श्रेणी में आते हैं और यह आँकड़े नाईट फ़्रैंक इंडिया के द्वारा जारी किये गये हैं जो इसी वर्ष यानि जनवरी 2022 के आँकड़े हैं।

Also Read – LPG Price Updates : LPG की कीमत में हुई बढ़ोत्तरी, जनता को मिला बड़ा झटका

2016 में एन. चन्द्रशेखरन हुए नियुक्त

एन. चन्द्रशेखरन जी भारत में सबसे ज्यादा वेतन लेने वाले काॅपोर्रेट्स में भी शामिल हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले वित्त वर्ष चन्द्रशेखरन जी का सलाना वेतन लगभग 91 करोड़ रूपये के रूप में मिले थे। अडानी का q4 result

चन्द्रशेखरन जी टाटा कंपनी में वर्ष 2016 में नियुक्त हुये थे और 2017 के जनवरी माह में उन्हें टाटा कंपनी ने अपना चेयरमैन नियुक्त कर दिया गया।

इतना ही नहीं जानकारी के लिए बता दें कि इससे भी पहले वे टीसीएस के चीफ़ एग्जीक्यूटीव के रूप में कार्य कर चुके हैं तथा उन्होनें इस पद पर 2009 से 2017 तक कार्य किया।

लगभग 30 वर्षों तक टीसीएस के साथ जुड़ी रहे। 

अध्यक्ष के साथ साथ हैं लेखक और फोटोग्राफर

चन्द्रशेखरन जी की लीडरशिप में टीसीएस कंपनी की कुल आय वर्ष 2015 – 2016 में लगभग 16.5 अरब डॉलर तक पहुँच गयी। साथ ही साथ वे रिजर्व बैंक तथा सेन्ट्रल बैंक के साथ भी जुड़े थे।

जानकारी के लिए बता दें कि अभी वर्तमान में वे लखनऊ आईआईएम के चेयरमैन हैं । साथ ही वे देश-दुनिया की बहुत बड़ी संस्थाओं से भी जुड़े हुये हैं।

वहीं अध्यक्ष होने के बावजूद चन्द्रशेखरन जी एक अच्छें लेखक तथा फ़ोटोग्राफ़र भी है।

Also Read – ISMC : कर्नाटक इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण क्लस्टर में मैसूर के पास बनेगा 3 अरब डॉलर का सेमीकंडक्टर चिप प्लांट, शामिल होगी कई बड़ी कंपनियां

Leave a Reply

Your email address will not be published.