BharatPe के सह-संस्थापक Ashneer Grover ने Fintech फर्म से दिया इस्तीफा, सुहैल समीर को बोर्ड से हटाने के लिए भी किए आवेदन

अशनीर ग्रोवर न्यूज

BharatPe के सह-संस्थापक और प्रबंध निदेशक Ashneer Grover ने कुछ ही समय पहले कंपनी से जुड़े विभिन्न विवादों के बीच फिनटेक फर्म से रिजाइन दे दिया है।

उन्होंने इस बारे में इस्तीफे के ईमेल में लिखा कि, “आज तक मैं जिस कंपनी में संस्थापक रहा, उसी कंपनी से मुझे इस्तीफा देने को मजबूर किया गया है। मैं काफी भारी मन से इस इस्तीफे को दे रहा हूं।

अशनीर ग्रोवर ने बोर्ड को अपने पत्र में आगे लिखा, “आज फिनटेक कंपनी ने पूरी दुनिया के सामने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उनका कहना है कि जब से 2022 की शुरुआत हुई है, उनके और उनके परिवार पर बेबुनियाद इल्जाम लगाए जा रहे हैं।

इससे न केवल उनकी बल्कि उनके कंपनी की भी इमेज खराब हो रही है।“

अशनीर ग्रोवर न्यूज
अशनीर ग्रोवर न्यूज

फिनटेक कंपनी से जुड़े यह विवाद तब शुरू हुए, जब ऑडियो की एक क्लिप सामने आई और वायरल भी हो गई थी। इस क्लिप में अशनीर ग्रोवर और कोटक महिंद्रा बैंक के एक कर्मचारी के बीच हुई बातें हैं,

जिससे साफ पता चलता है कि ऋणदाता Nykaa के लिए IPO आवंटन से चूक गया था, जिसके कारण ऋणदाता को अशनीर ग्रोवर ने कथित तौर पर गाली देते हुए सुना गया।

अब इसके विपरीत यह भी खबरें आ रही हैं कि अशनीर ग्रोवर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ट्वीटर के माध्यम से दावा करते हुए इस ऑडियो को फर्जी बताया लेकिन कुछ समय बाद ही उन्होंने अपना यह ट्वीट डिलीट भी कर दिया।

BharatPe बोर्ड ने किया इंटरनल प्रोसेस के इंडिपेंडेंट ऑडिट को शुरू करने की घोषणा

कोटक महिंद्रा बैंक द्वारा एक मामला शुरू किया गया है, जिसके मुताबिक उनका कहना है कि अशनीर ग्रोवर और उनकी पत्नी अपने काम करने वाले कर्मचारियों के साथ गलत शब्दों का इस्तेमाल करते हैं।

बता दें कि 19 जनवरी के दिन Ashneer Grover स्वैच्छिक छुट्टी लेकर चले गए हैं और उन्होंने 1 अप्रैल या उससे पहले तक वापस आने का उल्लेख किया है।

इसके 10 दिनों के बाद ही BharatPe बोर्ड ने घोषणा किया कि इंटरनल प्रोसेस का एक इंडिपेंडेंट ऑडिट शुरू किया जाएगा।

इससे जुड़े सलाह देने के लिए बोर्ड ने एक प्रबंधन सलाहकार और जोखिम सलाहकार फर्म अल्वारेज़ और मार्सल को नियुक्त किया है।

Ashneer Grover ने मुख्य परिचालन अधिकारी सुहैल समीर को बोर्ड से हटाने के लिए किया आवेदन

उनके रिपोर्ट के मुताबिक, जो विक्रेता हैं, उनके साथ अशनीर ग्रोवर के व्यवहार में कुछ विसंगतियां भी देखने को मिली हैं।

अशनीर ग्रोवर ने भारतपे बोर्ड को पत्र लिखा और इसके अंतर्गत उन्होंने मुख्य परिचालन अधिकारी सुहैल समीर को बोर्ड से हटाने के लिए आवेदन किया है।

बता दें कि BharatPe बोर्ड ने पिछले ही हफ़्ते अश्नीर की पत्नी के साथ साथ कंपनी के नियंत्रण प्रमुख माधुरी जैन ग्रोवर को भी पैसों की हेराफेरी से जुड़े आरोप में बर्खास्त कर दिया था।

उन्होंने पत्र में यह भी लिखा कि बाहर उनके बारे में उड़ाई जा रही अफवाहों पर विश्वास करना गलत है, बोर्ड को उनके साथ खुलकर बातचीत करनी चाहिए थी।

अंत में उन्होंने यह भी कहा कि आज उन्हें काफी बुरी तरीके से बदनाम किया जा रहा है और उनके साथ किया जा रहा यह व्यवहार किसी भी नजरिए से सही नहीं है।

Also Read – Cryptocurrency : एलन मस्‍क के एक ट्वीट से क्रिप्टो बाजार में हुई भारी हलचल, क्रिप्टो करेंसी में दिखी कई फीसदी की तेजी

Leave a Reply

Your email address will not be published.