HDFC Bank के शेयरों में भारी गिरावट, खरीदारी करने का आ गया सुनहरा मौका

बीते कई दिनों से शेयर मार्केट के कारोबार और स्टॉक्स में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहे हैं। दो दिन पहले ही कई सारे स्टॉक्स अपने हाई पर पहुंचे तो कुछ स्टॉक्स ने अपने लाइफ टाइम हाई को छुआ। बैंकिंग और फाइनेंशियल क्षेत्रों में भी कई ऐसे शेयर थे जिनकी बिकवाली के साथ उनके स्टॉक या कारोबार में गिरावट देखी गई। वहीं बैंकिंग के क्षेत्र में HDFC Bank के कारोबार में लगातार कई दिनों से गिरावट देखी जा रही है।

HDFC Bank
HDFC Bank

कितना गिरा HDFC Bank का शेयर :

लगभग 10 दिनों से HDFC Bank के कारोबार और शेयरों में काफी गिरावट नजर आ रही है। आज यानी 20 अप्रैल 2022 के दिन की शुरुआत के कुछ घंटों में ही बीएसई के शेयर में HDFC Bank का कारोबार लगभग 2 फ़ीसदी के साथ टूट कर गिर गया। केवल इसी 2 फ़ीसदी की गिरावट के साथ ही इसका एक शेयर 1362 रुपए तक पहुंच गया। अगर बीते पांच कारोबारी सत्रों की बात करें तो HDFC Bank के सभी शेयरों में लगभग 9 फ़ीसदी की गिरावट आई है। इसी बीच इसके सेंसेक्स में केवल 3 फ़ीसदी की गिरावट आई।

कितनी रही HDFC Bank की कमाई :

ऐसा अंदाजा लगाया गया था कि HDFC Bank के चौथी तिमाही के नतीजे अच्छे रहेंगे लेकिन यह अंदाजा कमजोर होता दिखा। इसके ब्याज में लगभग 10 प्रतिशत से अधिक यानी लगभग 18 हजार 872 करोड़ रुपए की कमाई रही। हालांकि इसके मुनाफे में लगभग 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई। जहां एक और HDFC Bank के ADR  के शेयर में 2 प्रतिशत गिरावट नजर आ रही थी तो वहीं इसके 26 तिमाहियों में CASA रेश्यो सबसे अधिक थे।

HDFC कंपनी करने वाली है मर्ज :

अप्रैल महीने की शुरुआत में ही HDFC यानी मॉर्गेज फाइनेंसर के हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन ने बताया था कि वह अपने सब्सिडियरी यानी HDFC Bank को खुद के साथ मर्ज करने वाली है जिसके बाद यह काफी बड़ी फाइनेंसियल कंपनी के रूप में उभरेगी। हालांकि आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मर्जर में कई तरह की मंजूरी मिलना अब भी बाकी है।

HDFC के शेयर की खरीदारी को लेकर संतोष मीणा का सुझाव :

संतोष मीणा जो Swastika Investmart से जुड़े हुए हैं, उन्होंने बताया कि HDFC Ltd और HDFC Bank के इस मर्ज की घोषणा के बाद यह कंपनी अपनी हाइ स्टॉक से लगभग 20 फ़िसदी नीचे गिर चुकी है। उन्होंने यह भी बताया कि HDFC Bank पर NIMs का काफी दबाव था जिसके कारण इसके नतीजे कमजोर होते नजर आए। उन्होंने HDFC Bank की क्वालिटी और असेट के बारे में बताते हुए कहा कि वह किसी भी दूसरे बैंक या मानक के मुकाबले काफी बेहतर स्थिति में है। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि HDFC कंपनी के यह मर्जर योजना आने वाले समय में बिल्कुल सही साबित हो सकती है। उन्होंने HDFC Bank के शेयरों में हो रहे गिरावट में किसी भी तरह की खरीदारी करने की सलाह भी दी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि देश की बढ़ती इकोनॉमिक ग्रोथ और प्राइवेट कैपेक्स में भी इस बैंक को रिवाइवल का काफी फायदा होने वाला है।

Also Read – Stock Market : 52 हफ्तों में High पर 200 शेयर, Lifetime High पर 70 स्टॉक्स और सबसे नीचे स्तर पर बंद हुए 16 स्टॉक्स, जानें खबरें

HDFC स्टॉक्स पर रवि सिंह का बयान :

ShareIndia से संबंध रखने वाले रवि सिंह ने भी Q4 में HDFC Bank की ग्रोथ के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि इसके सेगमेंट के कई सारे प्रोडक्ट में बढ़ोतरी हो सकती है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि लंबे समय के लिए HDFC twins यानी HDFC Ltd और HDFC Bank के मर्जर काफी फायदेमंद हो सकते हैं। उनके अनुसार HDFC Bank पर भी शेयर मार्केट के स्टॉक्स में आई गिरावट का काफी असर हुआ है और यही वजह है कि लगभग 1350 रुपए में इसकी स्टॉक की खरीदारी आसानी से हो रही है। रवि सिंह ने बताया कि 1650 रुपए में इसके शेयर में नियर टर्म का स्तर पहुंच सकता है जबकि अगर इसके शेयर के लंबे समय की बात करें तो वह 1950 रुपए का स्तर छू सकती है।

Also Read – Post Office Gram Suraksha Yojana : 15,00 रुपए प्रति माह सुरक्षित निवेश से पाएं 35 लाख रुपए का रिटर्न

Leave a Reply

Your email address will not be published.